रॉल्स का राजनीतिक उदारवाद : सारांश

Spread the love

जॉन रॉल्स का राजनीतिक उदारवाद, राजनीतिक शास्त्र का एक महत्वपूर्ण सिद्धांत है। राजनीतिक सिद्धांत का उद्देश्य यह स्पष्ट करना होता है कि लोगों को राज्य के आधीन होना कैसे उचित है, या उनके हक में है? रॉल्स भी राजनीतिक संस्थानों द्वारा नागरिक जीवन में हस्तक्षेप को जस्टिफाई करने की कोशिश करते है। इसे समझने के लिए हमें सबसे पहले रॉल्स के न्याय सिद्धांत को समझना चाहिए।

रॉल्स के लिए, एक आदर्श समाज (ए वेल ओरडर्ड सोसाइटी) न्याय के दो सिद्धांत पर आधारित होते हैं, जो समाज के गठन का औचित्य साबित करते हैं। पहले सिद्धांत के अनुसार, सभी नागरिकों को आधारभूत समानता और अवसर की स्वतंत्रता निश्चित किया जाता है। दूसरा, किसी भी प्रकार की असमानता तभी स्वीकार किया जाता है, जब यह असमानता सबसे पिछड़े वर्ग को लाभ पहुंचाए। रॉल्स के अनुसार, न्याय हमेशा ही निष्पक्ष होना चाहिए, इसलिए न्याय का कोई भी सिद्धांत, एक लोकतंत्र में तभी उपयोगी है जब इसे सभी नागरिक स्वीकार करें।

अब समस्या यह है कि किसी भी समाज में किसी भी सिद्धांत को लेकर सबकी सहमति कैसे बनाई जाय? यद्यपि लोगों के बीच किसी भी विषय लेकर भिन्न भिन्न मत हो सकते हैं, जिससे आम सहमति बनने में समस्या उत्पन्न हो सकती है। अतः सभी लोग कैसे न्याय के सिद्धांत पर सहमत हो सकते हैं? रॉल्स का राजनीतिक उदारवाद इसी प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करता है।

ओवर लैपिंग कॉन्सेंस: ओवर लैपिंग कॉन्सेन्स से रॉल्स का तात्पर्य एक प्रकार की आपसी सहमति से है। रॉल्स के अनुसार, लोगों की कुछ ऐसी आधारभूत आवश्यक्तायें होती है, जिसको पूरा करने के लिए सभी की सहमति बन सकती है। सभी लोग सामान्य राजनीतिक मूल्यों जैसे न्याय, समानता, स्वतंत्रता आदि पर अपनी सहमति ज़रूर देंगे। इसे स्पष्ट करने के लिए रॉल्स ओरिजनल पोजिशन की प्राकल्पना करते हैं।

ओरिजिनल पोजिशन एक काल्पनिक स्थिति है, जिसमें कोई व्यक्ति या प्रतिनिधि अपने वर्तमान सामाजिक परिस्थिति से अनजान होता है। उदहारण के लिए यदि किसी व्यक्ति को यह नही पता है कि वह किस वर्ग, लिंग, नस्ल या जाति से सम्बन्ध रखता/रखती है, तो ऐसी स्थिति में वह उन्ही राजनितिक सिद्धांतों या मूल्यों को चुनेगा जो सभी के हित में हो। इस प्रकार, वह चाहेगा/चाहेगी कि कोई भी राजनितिक सिद्धांत ओवरलैपिंग कॉन्सेंस की उपज हों।

संक्षेप में, रॉल्स के अनुसार कोई भी व्यक्ति अपने कुछ मूलभूत मूल्यों की रक्षा करना चाहता है तथा अपने आधारभूत आवश्यकताओं की पूर्ती करना चाहता है। साथ ही, वह यह समझता है कि उसके सारे ज़रूरतें पूरी नहीं हो सकती, अपितु कुछ सामान्य आवश्यकताएँ ही पूरी हो सकती है। इसलिए वह इनपर अन्य समूहों और समुदायों के साथ मिलकर सहमति बनाने की कोशिश करता है।

One thought on “रॉल्स का राजनीतिक उदारवाद : सारांश

Leave a Reply

Your email address will not be published.